Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain | Types Of Computer in Hindi

अगर आपने कभी भी कंप्यूटर का इस्तेमाल किया है तो आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain और कंप्यूटर आज के समय में हर जगह आपको उपयोग करने को मिल जाएगा।

कंप्यूटर हमारे जीवन के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्योंकि आज के समय में कंप्यूटर का दिमाग बहुत जरूरी हो गया है आप हर जगह देख सकते हैं कंप्यूटर का इस्तेमाल कितना ज्यादा होने लगा है लेकिन क्या आपको पता है कंप्यूटर जो हम अपने घर में चलाते हैं वह सिर्फ छोटा सा हिस्सा है।

आमतौर पर कंप्यूटर के अलग-अलग प्रकार हैं जो कि हम आगे बात करेंगे अगर आपको इस विषय में पूरी जानकारी हासिल करनी है आप इस आर्टिकल को पूरा अंत तक जरूर पढ़ें आज हम कंप्यूटर के प्रकार के बारे में बात करेंगे और हम कंप्यूटर के हर एक प्रकार हर एक Size के बारे में जानेंगे।

अगर आपने कंप्यूटर चलाया है तो आपने कभी ना कभी एक बात को गौर किया होगा कि सारे कंप्यूटर एक जैसे बिल्कुल नहीं होते हैं किसी का छमता ज्यादा होता है तो किसी का क्षमता कम होता है जहां पर आप को कंप्यूटर का आकार काफी छोटा देखने को मिलता है वहीं पर काफी कंप्यूटर का आकार बड़ा मिलता है।

Check this:- MovieRulz App: Watch HD Bollywood, Hollywood Movies

यहीं पर एक सवाल आता है कि क्या सच में सारे कंप्यूटर अलग-अलग हैं या फिर सब कंप्यूटर एक ही है और इसके बारे में आज हम जानकारी हासिल करेंगे।

कंप्यूटर के कितने प्रकार होते हैं?

दोस्तों सारे कंप्यूटर एक जैसे नहीं होते कई सारे कंप्यूटर एक दूसरे से अलग होते हैं कंप्यूटर अपने Size, काम करने की क्षमता और किस तरह से निर्माण हुआ है इन सब पर Depend करता है आज हम अलग-अलग तरह के कंप्यूटर के बारे में पूरा विस्तार से जानेंगे।

कंप्यूटर के प्रकार को अच्छे से समझने के लिए आज हम इसे तीन हिस्सों में बाटेंगे।

  1. आकार (Size)
  2. अनुप्रयोग (Application)
  3. उद्देश्य (Objective)

आकार (Size)

आकार के विषय में अगर हम बात करें तो कंप्यूटर को इस विषय में 5 हिस्सों में अलग-अलग बांटा गया है जोकि आकार के विषय में कंप्यूटर के काफी अलग-अलग प्रकार हैं जिसके बारे में हम नीचे बात करेंगे।

  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers)
  • वर्कस्टेशन (Workstation)
  • मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)
  • मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers)
  • सुपर कंप्यूटर (Supercomputer)

1. माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)

माइक्रो कंप्यूटर इसका मतलब क्या हो सकता है तो उसका नाम से ही आप समझ सकते हैं माइक्रो मतलब छोटा कंप्यूटर सन 1970 में माइक्रोप्रोसेसर का आविष्कार किया गया था और इसी प्रोसेसर को इस्तेमाल करके माइक्रो कंप्यूटर को बनाया जाता था।

Also Check:- RNFI Relipay Kya Hota Hai?

माइक्रोप्रोसेसर का आविष्कार जब से हुआ तब से इसकी गति में बहुत ज्यादा बदलाव आया और धीरे-धीरे करके बहुत सारे माइक्रोकंप्यूटर बनने लग गए इसका इस्तेमाल करके कई सारे छोटे-छोटे कंप्यूटर बनाए गए और उसकी गति भी काफी ज्यादा रखी गई।

माइक्रो कंप्यूटर इतना छोटा होता है कि आप इसे बड़े आसानी से किसी भी Desk के अंदर रख सकते हैं या फिर एक ब्रीफकेस में भी आराम से इसे रख सकते हैं यह माइक्रोकंप्यूटर्स काफी सस्ते भी आते थे इसकी वजह से इसकी बिक्री काफी ज्यादा हुई इसे हम लोग पर्सनल कंप्यूटर के नाम से भी जानते हैं।

2. वर्कस्टेशन (Workstation)

वर्कस्टेशन आमतौर पर माइक्रो कंप्यूटर की तरह ही होते हैं वैसे तो सरकार में यह मात्र कंप्यूटर के आकाश में आते हैं लेकिन इसकी क्षमता माइक्रो को फिर से ज्यादा होती है और वर्कस्टेशन को ऐसे बहुत मुश्किलो कामों के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

वर्कस्टेशन का इस्तेमाल कोई आम इंसान नहीं कर सकता है क्योंकि इसमें बहुत मुश्किल मुश्किल कोशिश कर डाली गए हैं इसका इस्तेमाल आमतौर पर वैज्ञानिक शिक्षक या फिर कोई कार्यालय में ही किया जाता है यह माइक्रो कंप्यूटर से महंगे आते हैं।

Check this:- Referral Code Meaning in Hindi

वर्कस्टेशन कंप्यूटर अपने ग्राफिक्स के लिए जाने जाते हैं जैसे-जैसे माइक्रोकंप्यूटर्स आगे बढ़ते गए वैसे वर्कस्टेशन कंप्यूटर भी आगे बढ़ते गए वर्कस्टेशन मेरा कंप्यूटर का चिंता में कब से ज्यादा शक्तिशाली है अभी कुछ समय से माइक्रोकंप्यूटर्स वर्कस्टेशन को पीछे छोड़ रखा है क्योंकि माइक्रोकंप्यूटर्स में भी कई सारे बदलाव तथा उसे भी शक्तिशाली बनाया जा रहा है।

3. मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)

मिनी कंप्यूटर का इस्तेमाल आमतौर पर कार्यालयों में किया जाता है और इसे इंजीनियर लोगों द्वारा भी इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि यह थोड़ा अलग कंप्यूटर है आमतौर पर यह कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर से ज्यादा शक्तिशाली और महंगे मिलते हैं।

मिनी कंप्यूटर काफी महंगे आते हैं इसलिए इस कंप्यूटर को आम लोग नहीं कर सकते हैं इसका इस्तेमाल इंजीनियर लोगों के द्वारा तथा बड़े-बड़े कार्यालयों में ही किया जाता है इस कंप्यूटर में टर्मिनल का इस्तेमाल करके एक ही समय में दो इंसान काम कर सकता है

और जैसे-जैसे इस कंप्यूटर को बनाया गया इसमें 1 Cpu से ज्यादा Cpu जोर दिया गया है और इसका इस्तेमाल दो लोग बहुत ही आसानी से कर सकते हैं मिनी कंप्यूटर में मेमोरी तथा गति को काफी ज्यादा शक्तिशाली बना दिया क्या है।

मध्यम स्तर की कंपनियां मिनी कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं ऐसे सी कंपनी में एक इंसान के लिए एक माइक्रो कंप्यूटर भी लगाना आसान हो जाता है लेकिन मिनी कंप्यूटर लगाने से कई सारे काम आसान हो जाते हैं और इसमें एक ही समय में दो तो लोग काम कर सकते हैं।

4. मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers)

मेनफ्रेम कंप्यूटर का आकार सारे कंप्यूटर के आकार से बहुत ज्यादा बड़ा होता है क्योंकि यह कंप्यूटर चलाने के लिए नहीं होता है इसका इस्तेमाल हम विभिन्न कार्य के लिए करते हैं और साथ ही साथ इस कंप्यूटर की छमता सारे कंप्यूटर की क्षमताओं से बहुत ज्यादा होती है।

Also Read:- Windows 11 Download कैसे करे?

इस कंप्यूटर में बहुत सारा डाटा को स्टोर करने की क्षमता होती है और इसका प्रोसेसर भी काफी अच्छा होता है जिससे हम कई सारे कार्य को एक साथ कर सकते हैं बिना किसी रूकावट के यह कंप्यूटर आमतौर पर बड़े-बड़े कंपनियों में इस्तेमाल होता है इसका उपयोग हम आम लोग नहीं कर सकते हैं।

मेनफ्रेम कंप्यूटर एक बहुत ही बड़ा कंप्यूटर होता है इसलिए यह 24 घंटों तक लगातार काम करता रहता है और इसमें कई सारे कर्मचारी एक साथ काम करते हैं इसलिए यह कंप्यूटर ज्यादातर परी परी कंपनियों बैंक या फिर किसी कार्यालय में इस्तेमाल किया जाता है।

5. सुपर कंप्यूटर (Supercomputer)

सुपर कंप्यूटर एक ऐसा कंप्यूटर है जो सभी क्षमताओं को पार कर देता है यह बहुत ही ज्यादा गति से चलने वाला कंप्यूटर है जो कि बड़ी बड़ी Files को बहुत ही तेजी से प्रोसेस कर सकता है इंडिया से कंप्यूटर में बहुत सारे अलग-अलग डाटा रखे जाते हैं और सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल आम लोग नहीं कर सकता है।

विश्व का सबसे पहला सुपर कंप्यूटर साल 1975 मैं शुरू हुआ था जिसका नाम इलियाक 4 था और इस कंप्यूटर के अविष्कारक जिनका नाम डेनियल सलोटनिक था। सुपर कंप्यूटर इतनी बड़ी कंप्यूटर होती है जिसमें एक बार में 64 कंप्यूटर काम कर सकता है।

सुपर कंप्यूटर में कई तरह के अलग-अलग सीपीयू लगाए जाते हैं जो अलग-अलग काम करते हैं यह बहुत ही बड़ा प्रोसेसर होता है जोकि बहुत ही कम समय में कई सारे कार्य को करता है। सुपर कंप्यूटर को बड़े-बड़े साइंटिस्ट ही इस्तेमाल करते हैं।

अनुप्रयोग (Application)

हमने आकार के बारे में जाना कि जैसे अलग-अलग आकार के अलग-अलग कंप्यूटर होते हैं जो कि अलग-अलग जगह काम करते हैं उसे जरा अनुप्रयोग के मामले में भी कुछ हिस्सों को बांटा गया है आमतौर पर इसे तीन हिस्सों में बांटा गया है जो कि कुछ इस प्रकार है।

  1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computers)
  2. डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computers)
  3. हायब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computers)

1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computers)

एनालॉग कंप्यूटर आमतौर पर ऐसे कंप्यूटर होते हैं जो कि दबाव, तापमान, लंबाई को नापने के लिए इस्तेमाल किया जाता है आमतौर पर इसे समझा जाए तो एनालॉग कंप्यूटर राशि का परिमाप तुलना के आधार पर हमेशा किया जाता है।

Check this:- Mi किस देश की कंपनी है? 

यह एनालॉग के data आमतौर पर Nature के हिसाब से होते हैं जो कि आगे चलकर अलग अलग नहीं होते हैं इन डाटा में आमतौर पर दबाव, तापमान, गति वजन, गहराई शामिल है। इस कंप्यूटर में जो भी इंफॉर्मेशन लगातार चलते रहते हैं उसे Curves के रूप में मापा जाता है।

इस कंप्यूटर का इस्तेमाल आसान कामों के लिए नहीं किया जाता है इस कंप्यूटर का इस्तेमाल किसी बैंक की या फिर स्कूल में नहीं किया जाता है इस कंप्यूटर की संभाल से हम मौसम का दबाव या फिर उसका तापमान कैसा है इन सब चीजों को नापा जाता है।

2. डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computers)

दोस्तों डिजिटल कंप्यूटर के बारे में हम सभी जानते हैं डिजिटल कंप्यूटर ऐसे कंप्यूटर होते हैं जो कि अपनी अंकों के आधार पर काम करते हैं अगर देखा जाए तो कंप्यूटर का हम लोग मतलब डिजिटल कंप्यूटर ही समझते हैं और यह कंप्यूटर आपको हर जगह देखने को मिल जाता है।

डिजिटल कंप्यूटर आज के समय में सबसे ज्यादा चलने वाला कंप्यूटर बन चुका है क्योंकि जितने भी कंप्यूटर के प्रकार हैं उन सब का कार्य अपनी-अपनी जगह पर सीमित है लेकिन डिजिटल कंप्यूटर का कार्य बहुत ज्यादा बढ़ चुका है जितने भी घरों में ऑफिस में स्कूलों में हर जगह आपको डिजिटल कंप्यूटर ही देखने को मिलता है।

और यह काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला कंप्यूटर है और यह काफी सस्ता भी आता है जिसकी वजह से बहुत सारे लोग इस कंप्यूटर को खरीदते हैं और इसका इस्तेमाल करते हैं इसमें अच्छे-अच्छे प्रोसेसर लगाया जाते हैं जिसकी वजह से यह छोटे-मोटे काम उसके साथ साथ मनोरंजन को पूरा करता है।

3. हायब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computers)

आप बारी है हाइब्रिड कंप्यूटर की तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि हाइब्रिड कंप्यूटर एनालॉग कंप्यूटर और डिजिटल कंप्यूटर का Mixture है इन दोनों को मिलाकर हाइब्रिड कंप्यूटर को बनाया गया है इन दोनों कंप्यूटर के बेहतरीन फीचर्स को जोड़कर हाइब्रिड कंप्यूटर को लाया गया है।

ALso Read:- Poco किस देश की कंपनी है?

हाइब्रिड कंप्यूटर का इस्तेमाल उन कामों के लिए किया जाता है जिसमें हमें बहुत ज्यादा अच्छा प्रोसेसर की जरूरत पड़ती है और गति की जरूरत पड़ती है और हाइब्रिड कंप्यूटर लोगों को काफी ज्यादा मदद करता है इन सारे प्रोसेसर को पूरा करने में।

हाइब्रिड कंप्यूटर का इस्तेमाल आमतौर पर साइंटिफिक्स कैलकुलेशन में भी किया जाता है और उन चीजों में हाइब्रिड कंप्यूटर बहुत ज्यादा इस्तेमाल होता है इसमें डिफेंस और रडार सिस्टम होता है। इस जैसे कंप्यूटर में गति काफी ज्यादा देखने को मिलती है और यह कंप्यूटर एनालॉग कंप्यूटर और डिजिटल कंप्यूटर का बहुत ही अच्छा मिश्रण होता है।

उद्देश्य (Objective)

जैसे कि हर हिस्सों में आपको अलग-अलग ऐसा देखने को मिलता है उसी तरह उद्देश्य के हिस्सों में भी आपको तो ही साथ देखने को मिल रहा है जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • General Purpose Computer
  • Special Purpose Computer

1. General Purpose Computer

आज के समय में जितनी भी कंप्यूटर का इस्तेमाल हम लोग करते हैं या फिर कितने भी कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है उन सभी को हम General Purpose Computer बोलते हैं। इन कंप्यूटर को काफी ज्यादा अच्छा बनाने के लिए इसमें बहुत ही अच्छे से प्रोसेसर और Build Quality डाला जाता है।

मैं आपको बता दूं आप सिर्फ General Purpose Computer का इस्तेमाल करके ऐसे बहुत सारे कामों को पूरा कर सकते हैं इस कंप्यूटर में आप Calculation, Writing, Word Editing जैसे कामों को बहुत ही आसानी से कर सकते हैं।

2. Special Purpose Computer

Special Purpose Computer वैसे कंप्यूटर होते हैं जो कि सिर्फ एक ही कार्य को करते हैं और इस कंप्यूटर को एक ही कार्य करने के लिए बनाया जाता है इन कंप्यूटर में आपको काफी ज्यादा अच्छे प्रोसेसर और मेमोरी देखने को मिलता है और इस कंप्यूटर की गति भी काफी तेज होती है।

Special Purpose Computer मैं कार्य काफी ज्यादा अच्छे से होता है क्योंकि इस कंप्यूटर में बहुत ही महंगे और अच्छे प्रोसेसर लगाए जाते हैं इसकी वजह से काम में कभी भी धीमी ना आए और इस कपड़ों का इस्तेमाल बड़े बड़े बैंकों में ऑफिसों में किया जाता है ताकि सारा काम बहुत ही आराम से और जल्दी पूरा हो गया।

Also Read:- End to End Encrypted Meaning in Hindi

और मैं आपको इस कंप्यूटर की सबसे खास बात बता देता हूं इस कंप्यूटर का दाम भी काफी कम होता है क्योंकि इस कंप्यूटर में ऐसे कई सारे फीचर्स चौकी किसी काम के नहीं होता है उन सब को निकाल दिया जाता है जिसकी वजह से इस कंप्यूटर को चलाना और भी ज्यादा आसान हो जाता है।

Conclusion

कंप्यूटर आज का समय में हमारे जीवन का बहुत बड़ा यह सब चुका है क्योंकि आजकल आप को और एक जगा कंप्यूटर आई थी मारते हैं को मिलता है क्योंकि कंप्युटर में से कार रेसिंग जाते हैं जो कि बहुत ही असंभव कार्य होते हैं और जिन्हें पूरा करने में काफी ज्यादा समय खपत हो जाता है।

इसलिए कंप्यूटर का आविष्कार हुआ और कंप्यूटर को हमारे सामने लाया गया ताकि मुश्किल से मुश्किल कामों को कंप्यूटर छुट्टियों में पूरा करते हैं और जैसा कि आपका सवाल था कि Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain तो मैंने आपको ऐसा आर्टिकल में इसका पूरा जवाब अच्छे से बता दिया है।

"Hey, I’m Mangesh Kumar Bhardwaj, A Full Time Blogger , YouTuber, Affiliate Marketer and Founder of BloggingQnA.com and YouTube Channel. A guy from the crowded streets of India who loves to eat, both food and digital marketing. In the world of pop and rap, I listen to Ragni."

Leave a Comment