Pollution Essay in Hindi : नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं प्रदूषण पर निबंध के बारे में प्रदूषण हमारे पूरे विश्व का सबसे बड़ा समस्या है प्रदूषण से हमारी पूरी जीवनी खराब होती जा रही है इसे रोकना बहुत जरूरी हो गया है क्योंकि आने वाले कुछ समय में अगर इसे नहीं रोका गया तो हम सांस भी ठीक से नहीं ले पाएंगे।

प्रदूषण सिर्फ इंसानों के लिए नहीं हानिकारक है बल्कि जीव जंतुओं के लिए भी यह काफी हानिकारक है ऐसे कई सारे जानवर इसकी चपेट में आ जाते हैं। आजकल छोटे छोटे शहर को बड़े शहर बना दिया जा रहा है बहुत सारी Factory, Industries बनाए जा रहे हैं पेड़ को काटा जा रहा है इन सब की वजह से Pollution दिन पर दिन बहुत बढ़ते जा रहा है इसकी वजह से इंसान तो इससे ग्रसित हो ही रहे इसी के साथ साथ जानवरों की भी मौत हो रही है।

Also Read:- Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

आज मैं आपको बहुत अच्छे अच्छे प्रदूषण पर निबंध (Pollution Essay in Hindi) बताने वाला हूं जिसको आप अपने स्कूल या फिर कॉलेज में अपने प्रोजेक्ट के लिए उपयोग कर सकते हैं। प्रदूषण वैसे तो हर जगह मौजूद है लेकिन महानगरों में इसकी मात्रा बहुत ज्यादा है क्योंकि छोटे-छोटे शहरों में बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां इंडस्ट्रीज नहीं होती है इसकी वजह से छोटे शहरों में प्रदूषण काफी कम होता.

है लेकिन बड़े शहरों में फैक्ट्रीज इंडस्ट्रीज होने के कारण वहां प्रदूषण बहुत ज्यादा मात्रा में निकलता है। प्रदूषण किस किस कारणों से बढ़ रहा है और हम उसे कैसे रोक सकते हैं इन सब के बारे में आज हम जानेंगे।

प्रदूषण पर निबंध 200 शब्दों मैं | Essay on Pollution in 200 Words

Pollution Essay in Hindi

बात करें आज से करीबन 50 साल पहले की तो हमारा शहर हमारा गांव कैसा दिखता था चारों तरफ हरियाली होती थी आसपास नदिया होते थे छोटे-छोटे घर हुआ करते थे बहुत सारे पेड़ पौधे हुआ करते थे।

लेकिन आज हर जगह आपको बड़ी-बड़ी इमारतें हैं इंडस्ट्रीज फैक्ट्री सड़क पर वाहन चलते दिखेंगे जिसकी वजह से प्रदूषण की मात्रा बहुत ज्यादा अधिक हो चुकी है प्रदूषण कई तरह की होती हैं जैसे कि जल प्रदूषण, वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण, मृदा प्रदूषण इत्यादि।

Check this also:- Samay Ka Mahatva Essay in Hindi

प्रदूषण ने मानव हमें चारों ओर से घेर लिया है और दिन पर दिन इसकी मात्रा बढ़ती जा रही है जल में इतने सारे प्लास्टिक पानी की बोतले फेंके जाते हैं इसकी वजह से प्रदूषण बढ़ते जा रहा है।

प्रदूषण आमतौर पर इंसानों की गतिविधियों द्वारा उत्पन्न होने वाले चीज है और यह हमारे पूरे संसार को बर्बाद कर रही है प्रदूषण से हम मनुष्य के जीवन में छोटे से छोटे बीमारी लेकर बड़े बीमारी उत्पन्न हो रही है और इसे रोकना बहुत जरूरी है प्रदूषण को फैलाने में हम इंसानों की भी बहुत गलतियां रही हैं हम अपने स्वार्थ के लिए हम अपने फायदे के लिए पेड़ पौधे को काट कर अपनी सुविधा के अनुसार बहुत ऐसे काम करते हैं जिसकी वजह से हमारे पर्यावरण में एक असंतुलित पैदा हो गया है।

प्रदूषण पर निबंध हिंदी में (250 शब्दों) | Pollution Essay In Hindi 250 Words

जब जल वायु और मृदा मैं अनेक तरह की गंदगी दिखनी शुरू हुई हो जाती है तो यह प्रदूषण की ओर इशारा करते हैं प्रदूषण अक्सर अपने साथ गंदगी लेकर आती है और यह हमारे स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर डालती है।

प्रदूषण अगर हमारे आस पास हो तो हम ठीक से सांस भी नहीं ले सकते हैं प्रदूषण कितना हानिकारक है इसलिए इसको रुकना इस पर नियंत्रण पाना बहुत जरूरी है नहीं तो यह मानव जीवन के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकती है। 

जिस तरह से हमने इतने सुंदर पृथ्वी को गंदा किया है उसे प्रदूषित किया है तो इसे साफ करना इसे प्रदूषण से मुक्ति दिलाना भी हमारी जिम्मेवारी है अगर हम ऐसा नहीं करते हैं तो यह हमारे पूरे पर्यावरण को बहुत भारी नुकसान पहुंचा सकती है।

अपनी सुविधा के लिए हम इंसान अब तक कितने पेड़ को काट चुके होंगे क्या आपको पता है पेड़ की लगातार कटाई भी प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण बना है इसलिए आप जितना पेड़ काटेंगे हमारे आसपास ऑक्सीजन की मात्रा उतनी ही कम होती रहेगी और वैसे भी हमारा देश Global Warming से जूझ रहा है तो कृपया करके मेरे को लगा ना काटे तेरे को ज्यादा से ज्यादा लगाएं ताकि सीजन की मात्रा उन तक ही से पहुंच पाए और प्रदूषण कम हो पाए।

अगर हम अभी से प्रदूषण को नियंत्रित करते हैं तो हमारे आने वाले पीढ़ी को एक बहुत ही स्वच्छता और सुरक्षित पर्यावरण मिलेगा जोकि उनके लिए बहुत ही लाभदायक होगा।

प्रदूषण पर निबंध – Pollution Essay in Hindi (400 शब्द) | Pollution Type Essay in 400 Words

प्रदूषण से हमारा भारत और कितनी भी तेज है वह सब बहुत परेशान है कहीं ना कहीं प्रदूषण की वजह से मौसमों में काफी बदलाव देखने को मिलती है जैसे कहीं बहुत ज्यादा गर्मी होती है तो कहीं बहुत ज्यादा ठंड यह भी एक तरह का प्रदूषण का कारण है इस वजह से मौसम में इतना बदलाव देखा जाता है। वायु प्रदूषण बहुत तेजी से फैल रहा है वायु में इतने सारे गंदे हवा मिल रहे हैं जिसकी वजह से वायु प्रदूषण काफी मात्रा में बढ़ रही है और यह गंदे हवा आमतौर पर कारखानों या फिर सड़क पर चलते वाहनों की वजह से फैल रही है जो काफी जहरीली साबित हुई है और यह हवा जब सांस के द्वारा अंदर जाती है हम इंसानों को काफी मुसीबत झेलना पड़ता है।

Also Read:- Ek Bharat Shreshtha Bharat Essay in Hindi

वायु प्रदूषण इतनी ज्यादा मात्रा में फैल गई है जब छत पर कपड़े सुखाए जाते हैं फिर उसे उतारते वक्त उस कपड़े पर काले काले गंदगी जमा हो जाती है इससे आप समझ सकते हैं कि वायु में कितना प्रदूषण फैल रहा है और वही काले गंदगी हमारे सांस के द्वारा अंदर जाती हैं हमारे फेफड़ों में तो आप सोचिए इससे मनुष्य को कितना हानी पहुंचने का खतरा हो सकता है इसलिए प्रदूषण चलाने के पीछे हम मनुष्य कहां थे उसे नियंत्रित करना भी हमारी जिम्मेवारी है मनुष्य अपने साधन के लिए ऐसे अलग अलग तरीके के क्रियाकलापों एवं तकनीकी वस्तुओं का इस्तेमाल करते हैं जिससे वायु प्रदूषण काफी ज्यादा बढ़ जाता है जिससे हमारे सेहत को बहुत नुकसान पहुंचता हैं।

प्रदूषण का अर्थ – Meaning of Pollution in Hindi

प्रदूषण जब हमारे पर्यावरण में बहुत गंदे पदार्थों का प्रवेश होता है जब उस कारण से हमारे प्रकृति का संतुलन बिगड़ता है तब हम उसे प्रदूषण किसे कहते हैं प्रदूषण आमतौर पर जल, वायु, मिट्टी इत्यादि में हो सकता है। प्रदूषण सिर्फ हमारे भारत देश का ही समस्या नहीं है बल्कि यह पूरे विश्व का समस्या है।

एक सर्वे के अनुसार साल 2020 मैं सबसे ज्यादा प्रदूषण वाला देश बांग्लादेश था इसके बाद पाकिस्तान इसके बाद फिर भारत देश था। इससे आप समझ सकते कि हमारे भारत देश में कितना प्रदूषण फैला हुआ है इसे कम करने की आवश्यकता बहुत ज्यादा है नहीं तो इंसानों के साथ-साथ बेचारे जीव-जंतुओं भी मारे जाएंगे।

सारे प्रदूषण के मुकाबले वायु प्रदूषण काफी अधिक मात्रा में फैला हुआ है क्योंकि वायु में बहुत सारे जहरीले गैस का मिश्रण हो रखा है जिससे तुरंत ही आसपास के लोगों को या फिर जीव जंतुओं को यह हानि पहुंचाता है।

प्रदूषण के प्रकार पर निबंध हिंदी में

प्रदूषण फैलने के पीछे भी कई प्रकार है इसलिए हमें यह जानना बहुत जरूरी है कि प्रदूषण किस किस कारणों से फैल रहा है। सबसे बड़ी गलती तो हम इंसानों की यह होती है कि हम गंदगी फैलाने में पीछे नहीं हटते  है आपने अक्सर देखा होगा किसी पार्क में या फिर किसी नदी के किनारे कोई अपने गंदे कपड़े को धो रहा है या फिर अपने किसी जानवरों को नहला रहा है इस से हम क्या समझते हैं वह पानी जो कभी पीने के लायक हुआ करते थे आज उस पानी में लोग मल मूत्र कर रहे हैं।

Also Check this:- Teachers Day Speech in Hindi

इन सभी वजह से जल कितना प्रदूषित हो रहा है आपको अंदाजा भी नहीं है अगर इसे रोका नहीं किया तो इंसान अपना बंदोबस्त कर लेंगे लेकिन बेचारे जानवरों का बहुत बुरा हाल हो सकता है उनकी जान भी जा सकती है क्योंकि उनके लिए घर नहीं बनाया गया है जहां वह स्वच्छ पानी पी सके उन लोगों के लिए नदी ही उनके प्यास बुझाने का रास्ता है जो हम इंसानों की वजह से आज बहुत गंदा हो चुका है। मैं आपको एक एक करके प्रदूषण के प्रकार के बारे में बताने वाला हूं।

प्रदूषण के प्रकार – Types of Pollution in Hindi

तो चलिए अब जानते है Types of Pollution in Hindi:-

वायु प्रदूषण – Air Pollution 

वायु प्रदूषण आज के समय में कितना ज्यादा बढ़ गया और इसका कारण सिर्फ बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां हैं सड़क पर चलने वाले वाहन हैं क्योंकि इन सारे जगह से इतनी जहरीली गैस निकलती है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक है.

Read this Also:- Poco कंपनी का मालिक कौन है?

दोस्तों मैं आपको बता दूं इन सारे गैस में कार्बन मोनोऑक्साइड ग्रीनहाउस गैस होती हैं ग्रीनहाउस गैस में आपको कार्बन डाइऑक्साइड मिथेन और भी ऐसे खतरनाक गैस निकलते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही खतरनाक होते हैं। इंडियास की वजह से ऐसी बहुत सारी बीमारियां हमें होने की खतरा होते हैं जैसे कि टीवी, डायरिया, दम्मा इत्यादि।

जल प्रदूषण – Water Pollution 

जल प्रदूषण के बारे में मैं क्या बोलूं जल प्रदूषण अभी के समय में इतना ज्यादा बढ़ गया है नदियों में शुद्ध पानी के वजह आज इतने दूषित पानी बहते हैं जिनको पीने से जीव जंतुओं की मौत हो जाती है आपको कहीं भी स्वच्छ पानी देखने को नहीं मिलता होगा क्योंकि हर जगह आपको हरे हरे पानी देखने को मिलता है और वह पानी यह दर्शाते हैं कि जल कितना प्रदूषित हो चुका है।

जितने भी कूड़े कचरे होते हैं जो हमारे घर में पाए जाते हैं वह सब उठाकर नदियों में फेंका जाता है पानी में प्लास्टिक पानी के बहुत ले इन सब फेंका जाता है और इन सब के वजह से हमारा जल बहुत ही ज्यादा प्रदूषित हो जाता है क्या जानते हैं जल प्रदूषण से कौन-कौन सी बीमारियां हमें होने का खतरा होता है इससे हमें डायरिया, पीलिया, टाइफाइड, जैसी खतरनाक बीमारियां होने की संभावना होती है।

ध्वनि प्रदूषण – Noise Pollution 

ध्वनि प्रदूषण दिखती नहीं है लेकिन इसका असर हम इंसानों पर बल्कि जीव-जंतुओं पर भी बहुत बुरा होता है। जब हम इंसान अपने क्षमता से ज्यादा आवाज सुनते हैं या फिर निकालते हैं इससे धोनी प्रदूषण का निर्माण होता है वह सारी धनिया बाहर निकल कर प्रदूषण का कारण बनता है।

Related:- Bharat Ka Kshetrafal Kitna Hai

शादियों में या फिर Birthday पार्टियों में आपने गाने बजते देखे होंगे बड़े-बड़े बॉक्स में गाने बजते होते हैं उन सब से धोनी प्रदूषण होता है मशीनों की तेज आवाज में वाहनों की तेज आवाज में इन सब से हम इंसानों के दिमाग और कान पर बहुत बुरा असर होता है ध्वनि प्रदूषण से इंसान चिरचिरा, पागल या बहरा भी हो सकता है।

मृदा प्रदूषण या फिर मिट्टी प्रदूषण – Soil Pollution 

मिट्टी प्रदूषण में आपको अक्सर खेती वाले जगह पर ज्यादा प्रदूषण देखने को मिलेगी क्योंकि खेती करने में ज्यादा से ज्यादा मात्रा में Fertilizers और कीटनाशकों का प्रयोग किया जाता है और उन सब की वजह से मृदा प्रदूषण फैलता है और वहां से जल निकलने वाले भी प्रदूषित होते हैं।

उपसंहार

प्रदूषण को रोकने काफी जरूरी है चाहे वह किसी भी तरह का परेशान हो नहीं तो आने वाले समय में इंसान तो इससे ग्रसित होंगे ही होंगे इसके साथ-साथ जीव जंतुओं को भी यह झेलना पड़ेगा। हम मनुष्य अपने साधनों के कारण इतने सारे प्रदूषण फैलाते हैं.

Also Read:- Call Barring Kya Hai

इसकी वजह से जीव-जंतु पेड़-पौधे एवं सभी का जीवन नष्ट होने के कगार पर पहुंच चुका है उन्हें रोकना प्रदूषण को नियंत्रित करना और हम सभी को स्वस्थ रखना हमारी जिम्मेदारी है नहीं तो इससे पर्यावरण में असंतुलित पैदा हो सकता है।

प्रदूषण को नियंत्रित करने का उपाय – Tips to Control Pollution in Hindi

प्रदूषण को नियंत्रित करने का ऐसे कुछ उपाय हैं जिसके बारे में हम बात करेंगे अगर हमें अपने आसपास की जगह को साफ रखना है प्रदूषण मुक्त रखना है तो हमें छोटे-छोटे ही सही लेकिन कदम उठाने पड़ेंगे तब जाकर हम प्रदूषण को नियंत्रित कर पाएंगे नहीं तो आने वाले समय में यह हमारे लिए बहुत नुकसानदायक साबित हो सकता है तो चलिए जानते हैं।

  • प्रदूषण को रोकने के लिए सबसे पहले हमें यह समझना होगा कि पोलूशन चाहे जल का हो या वायु का हम इस पर नियंत्रित पाएंगे हम इसे और नहीं बढ़ाएंगे जैसे कि जल में पानी के बोतले नहीं फेंखेंगे जल में गंदे कपड़े नहीं धोएंगे वायु प्रदूषण में हम ज्यादा से ज्यादा वाहन नहीं चलाएंगे।
  • वायु प्रदूषण नियंत्रित रहे उसके लिए हमें अपने घर से कचरे को यहां वहां नहीं फेंकना है नहीं तो इससे वायु प्रदूषण और भी बढ़ेगा।
  • ध्वनि प्रदूषण को रोकने के लिए अपने खराब वाहनों को ठीक करा कर सड़कों पर चलाना चाहिए बेफिजूल के होरन नहीं तब आए और तेज में गाने को नहीं बनाना चाहिए।
  • पॉलीबैग प्लास्टिक के बर्तनों और सामानों का उपयोग ना करें उनसे जितना हो सके बचे।
  • प्लास्टिक की थैलियों का उपयोग कम से कम करें इससे वायु प्रदूषण काफी ज्यादा मात्रा में फैलता है।
  • कूड़े कचरे को डस्टबिन में ही डालें यहां वहां ना फेंके इससे गंदगी और प्रदूषण दोनों बढ़ता है।
  • अपने घर के कचरे हमेशा कचरे की गाड़ियों को ही देना चाहिए ऐसे बाहर नहीं फेंकना चाहिए।
  • पेड़ पौधे को काटना बंद करें जितना हो सके उतना पेड़ पौधे को लगाएं।
  • हमें ऐसी वस्तुओं का उपयोग करना चाहिए जिसका इस्तेमाल हम दोबारा कर सके उसे यूं ही बाहर नहीं फेंक सकें।

FAQ on Pollution Essay In Hindi

Q1. हमारे भारत देश में सबसे अधिक प्रदूषण वाला State कौन सा है?

नई दिल्ली

Q2. हमारे भारत देश में सबसे कम प्रदूषण वाला City कौन सा है?

मिजोरम शहर

Q3. पूरे विश्व में सबसे अधिक प्रदूषण वाला देश कौन सा है?

बांग्लादेश

Q4. सबसे कम प्रदूषण वाला देश कौन सा है?

स्विडेन (Sweden)

Conclusion 

पर्यावरण को शुद्ध और सुरक्षित रखना हमारा काम है यह हमारी जिम्मेवारी है कि हमारे भारत को हमारे पूरे देश को साफ रखना प्रदूषण मुक्त रखना लेकिन कभी-कभी लोग इसे भूल जाते हैं और गंदगी फैलाना शुरू कर देते हैं ऐसा आप बिल्कुल ना करें कचरे को हमेशा कूड़ेदान में फेंके और बेवजह कचरा ना फैलाएं इससे हमारा देश से गंदा ही नहीं बल्कि प्रदूषित भी होता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल ठीक नहीं है।

मुझे पूरा आशा है कि आपको मेरा यह निबंध अच्छा लगा होगा आपके फिगर निबंध को अपने स्कूल या कॉलेज के प्रोजेक्ट के लिए उपयोग कर सकते हैं और कई सारे लोगों तक यह पहुंचा सकते हैं कि प्रदूषण को जितना हो सके उतना नियंत्रित करें कचरे ना फैलाएं पानी को गंदा बिल्कुल ना करें वाहन का इस्तेमाल सिर्फ अपने जरूरत के हिसाब से करें क्योंकि हमारा देश बहुत ही प्यारा देश है इसे स्वस्थ और सुरक्षित रखना हमारा कर्म है।