Mahila Sashaktikaran Essay in Hindi | महिला सशक्तिकरण पर निबंध: आज हम बात करने जा रहे हैं ऐसे Topic के बारे में जिसके बारे में आप का जाना बहुत जरूरी है।

आज हम बात करेंगे महिला सशक्तिकरण के बारे में आज मैं आपको इससे संबंधित ऐसे बहुत सारे निबंध यह बताऊंगा का उपयोग आप अपने स्कूल या कॉलेज में कर सकते हैं महिला सशक्तिकरण एक ऐसा विषय है एक ऐसा Subject है जिसके बारे में लोग अपने-अपने अलग-अलग धारणाएं देते हैं कुछ लोगों का मानना है कि यह काफी आगे बढ़ना चाहिए लेकिन कुछ लोग इसे रोकने के बारे में भी सोचते हैं।

देश की तरक्की चाहते हो इसे आगे बढ़ाना चाहते हो तो महिलाओं को भी मौका दो महिलाओं को भी आगे बढ़ने का अधिकार दो तब तक हमारा देश आगे बढ़ेगा हमारे देश में विकास होगा क्योंकि महिलाएं भी आज के समय में वह सारे काम कर सकती हैं जो एक पुरुष कर सकता है यह भेदभाव अक्सर हम ही अपने समाज में लाते हैं की महिला पुरुष से कम है।

Related:- Shiksha Ka Mahatva Essay in Hindi

महिलाएं सिर्फ घर गृहस्ती संभालने के लिए पैदा हुई है लेकिन ऐसा नहीं है दोस्तों समाज काफी आगे बढ़ चुका है महिलाओं के लिए सरकार ने ऐसी बहुत सारी योजना भी बनाई है जिसकी मदद से वह अपने अधिकार और अपना हक मांग सके और जीवन में कुछ आगे कर सके।

महिला सशक्तिकरण को और भी गहराई से जाने के लिए हमारे साथ बने रहे।

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 100 शब्दों में | Mahila Sashaktikaran Essay 100 Words

Mahila Sashaktikaran Essay

आज के समय में महिलाओं को वह अधिकार वह सम्मान नहीं मिलता है इसके लायक वह है आज हमारा देश कहीं ना कहीं पीछे है और इसका कारण यह भी है कि हमारे देश में महिलाओं को आगे बढ़ने का मौका नहीं दिया जाता है उन्हें हर कदम पर रोका जाता है उनका शोषण किया जाता है जिस वजह से महिला चारदीवारी के अंदर ही अपना जीवन व्यतीत कर लेती है।

हम अगर अपने देश में विकास करना चाहते हैं अपने देश को आगे बढ़ाना चाहते हैं तो हमें महिलाओं को वह सारा अधिकार देना होगा।

कुछ लोगों का यह मानना है की महिलाओं का विकास अगर होता है तभी जाकर हमारे देश का विकास हो सकता है कोई ना कि यह सही है और महिलाओं के विकास के लिए हमारे सरकार द्वारा ऐसे कई सारे यू योजना भी चलाए गए हैं जिसकी मदद से महिलाओं को भी आगे बढ़ने का अधिकार दिया जाएगा।

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 200 शब्दों में | Mahila Sashaktikaran Essay 200 Words

महिला सशक्तिकरण के बारे में बात करना बहुत जरूरी है इस को आगे लेकर जाना बहुत जरूरी है ताकि देश के हर कोने में महिलाओं को वह सम्मान मिले जिनके वह हकदार है।

जो लोग महिलाओं के अधिकार और उनके मूल्यों को मारते हैं या फिर उनको वह सम्मान नहीं देते हैं तो सबसे पहले उन सभी गलत सोच वाले इंसान को रोकना होगा।

Related:- Pollution Essay in Hindi

महिलाओं के Against बहुत सारे गलत काम होते हैं जैसे कि दहेज देना, भ्रूण हत्या, महिलाओं को घरेलू हिंसा पहुंचाना, बलात्कार करना और भी ऐसे कई काम है जो महिलाओं के Against होते हैं जिन को सबसे पहले रोकना होगा बंद करना होगा तब जाके हमारे देश का विकास होगा और हमारा देश प्रभावशाली देश बनेगा।

अगर हमारे देश की महिलाओं को सशक्त बनाना है तो सबसे पहले वह सारे काम बंद होने चाहिए जो महिलाओं के विपरीत होता है जो महिलाओं को चोट पहुंचाता है उनको नीचा दिखाता है इसके बाद ही हमारे देश से बुराई मिटेगी और हमारा देश एक बेहतर देश के रूप में जाना जाएगा।

महिला सशक्तिकरण को आगे बढ़ाने के लिए सबसे पहले सारे परिवार में बचपन से ही महिला को इसके बारे में सिखाना और बताना बहुत जरूरी है तब जाके महिला शारीरिक रूप से मानसिक रूप से और सामाजिक रूप से मजबूत बनेगी क्योंकि बचपन से ही सिखाया गया ज्ञान उनको अपने जीवन में कुछ पाने की इच्छा उत्पन्न कराती है इसलिए सारे परिवार में बेटियों को बचपन से ही एक अच्छी शिक्षा प्रदान करें।

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 400 शब्दों में | Mahila Sashaktikaran Essay 400 Words

आज के समाज में कुछ अच्छी सोच वाले लोग हैं तो कुछ बुरे सोच वाले लोग हैं आज के समय में जहां महिलाओं को हमारे भारत के संविधान में ऐसे कई तरह के अधिकार प्रदान किए गए हैं और आज की महिलाएं हमारे भारत के विकास में अपना योगदान भी देती है लेकिन कहीं ना कहीं आज भी पुरुषों को महिलाओं से आगे किया जाता है।

महिलाओं का अनादर किया जाता है महिलाओं से उनका हक चीना जाता है। जैसा कि हम जानते हैं हर साल ऐसे बहुत सारे बड़े बड़े Competition की पढ़ाई होती है उनका एग्जाम होता है उन सारे एग्जाम में पुरुषों से ज्यादा महिलाएं शामिल होती है और Top भी करती हैं इसके बावजूद भी महिलाओं को वह मान सम्मान नहीं दिया जाता है महिला सशक्तिकरण का उद्देश सिर्फ यही है कि महिलाओं को किसी से कम नहीं समझा जाए।

Readl this also:- global warming essay in Hindi 

हमारे भारत देश में आज भी ऐसी जगह है जहां पर बेटियों को जन्म देना उसे आगे बढ़ाना लोग नहीं चाहते हैं वीडियो का जन्म होने पर निराशा जाहिर करते हैं और कई ऐसे लोग हैं जो भ्रूण हत्या जैसे पाप भी करते हैं लेकिन लोग अक्सर यह भूल जाते हैं कि हमारे भारत देश में ऐसे कई सारी महिलाएं हैं इन्होंने सशक्त बनकर अपने भारत देश का नाम रोशन किया है

जैसे की किरण बेदी, सुष्मिता सेन, Kamalpreet Kaur, Savita Punia इत्यादि हमें भी इनसे कुछ सीखना है और महिला सशक्तिकरण को आगे बढ़ाना है ताकि कई लोगों तक यह बात पहुंच पाए ताकि वह सारे लोग भी महिला सशक्तिकरण के महत्व को जाने तथा उनका सम्मान करें।

आज भी ऐसे कई जगह है जहां पर महिला और पुरुष में काफी आसमानता है कई सारे लोग पुरुष और महिला को बराबर नहीं समझते अक्सर महिलाओं को पुरुष से नीचे समझा जाता है

पुरुष और महिलाओं मैं समानता लाने के लिए महिला सशक्तिकरण को बहुत तेजी से बढ़ाने की जरूरत है ताकि आने वाले समय में पुरुष और महिला में कोई भी समानता ना रहे दोनों को एक ही नजरिए से देखा जाए और वह सारे अधिकार दिया जाए जो सिर्फ पुरुष को दिए जाते हैं। पुरुष और महिला के बीच आसमानता होने की वजह से कई सारे समस्या देखने को मिल सकती है

जो कि हमारे भारत देश के विकास में बहुत ही बड़ी बाधा बन सकती है इसलिए महिलाओं को हक और अधिकार जरूर मिलना चाहिए। महिलाओं का यह पूरा अधिकार है कि जो महत्व पुरुष को मिलता है वह महत्व हमें भी मिले।

महिला सशक्तिकरण पर निबंध 800 शब्दों में | Mahila Sashaktikaran Essay 800 Words

महिला सशक्तिकरण का अर्थ बहुत सामान्य है इसको आसान भाषा में समझे तो महिलाओं को शक्तिशाली बनाना ही इसका उद्देश्य है महिलाएं अपने जीवन से जुड़े हो सारे फैसले को खुद ले सके और अपने परिवार और समाज में एक बेहतर जिंदगी जी सकें। इस समाज में महिलाएं को भी अपना अधिकार मिलना चाहिए और महिलाएं वास्तविक अधिकार को प्राप्त करने के लिए सक्षम बनाना ही महिला सशक्तिकरण का उद्देश है।

पहले के समय में महिलाओं को हर चीज के लिए रोका जाता था क्योंकि उस समय भारत में लैंगिक असमानता थी जिसकी वजह से महिलाओं पर काफी शोषण भी किया जाता था उन्हें समाज में कई तरह के कारणों की वजह से दबाया भी जाता था।

Also Read:- Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

दोस्तों मैं आपको बता दूं! यह सिर्फ हमारे भारत देश की स्थिति नहीं थी और भी ऐसे देश हैं जहां पर इस स्थिति से महिलाएं गुजर रही थी। प्राचीन काल में ऐसे कई सारे नियम और रीति-रिवाज बनाए गए थे जो कि आज भी चलते आ रहे हैं

महिलाओं के लिए और भारतीय समाज के अनुसार हमारे देश में महिलाओं को पूजने की परंपरा है लेकिन दोस्तों ऐसा होता कहां है महिलाओं पर शोषण किया जाता है उनका बलात्कार किया जाता है दहेज ना मिले तो उन्हें जान से मार दिया जाता है हमारा भारत देश का विकास तभी होगा जब हमारे देश की आधी जनसंख्या यानी के महिलाओं को हर एक क्षेत्र में सशक्तिकरण बनाया जाए ताकि हमारा देश का विकास बहुत तेजी से हो पाए।

महिला सशक्तिकरण का महत्व हिंदी में

महिला सशक्तिकरण एक ऐसा मुद्दा है जिसके बारे में आज के समय हर कोई बात कर रहा है और इसके महत्व के बारे में जानने की जिज्ञासा रख रहा है कि आखिर क्यों महिला सशक्तिकरण के मुद्दे को हमारे देश में बड़े-बड़े संगठनों द्वारा इतना महत्व दिया जा रहा है तो मैं आपको बता दूं महिला सशक्तिकरण के इस मुद्दे को महत्त्व देने के पीछे ऐसे कई कारण है जिनके बारे में मैं आपको नीचे बताऊंगा।

पुरुष और महिलाओं को एक सामान्य मानना

महिला सशक्तिकरण के इस मुद्दे का सबसे पहला कारण समानता है। हमारे समाज में आज भी ऐसे कई जगह है जहां पर पुरुष और महिलाओं को एक सामान्य नहीं माना जाता है कहीं ना कहीं महिलाओं को पुरुष से नीचे जगा दिया जाता है और उनको पूरा अधिकार नहीं दिया जाता है।

Check this Also:- समय का महत्व पर निबंध

और तो और महिलाओं को अपने जीवन के निर्णय लेने का भी अधिकार उनसे छीन लिया जाता है और उनसे गुलामों की तरह काम करवाया जाता है जो कि हमारे समाज के विकास के लिए बहुत गलत है हमें सिर्फ अपने भारत देश के विकास के लिए ही नहीं बल्कि हर एक महिला के लिए महिला सशक्तिकरण मुद्दे को आगे बढ़ाना है ताकि महिलाओं और पुरुष में किसी भी तरह का आशामानता ना रहे और महिलाए अपना निर्णय खुलकर हमारे इस समाज के सामने ले सके।

देश का विकास करना

हमारे देश का विकास तभी होगा जब हमारे समाज में महिलाएं शिक्षित होंगे क्योंकि महिला सशक्तिकरण का प्रथम लाभ समाज से ही जुड़ा है अगर हमें महिलाओं को शक्तिशाली बनाना है आत्मनिर्भर बनाना है तो उनको पर आना उनको शिक्षित करना बहुत जरूरी है तभी जाकर हमारा देश के एक शक्तिशाली देश बन पाएगा और इसी के साथ आज हमारे देश का विकास भी बहुत तेजी से हो पाएगा इसलिए महिलाओं को बढ़ाएं ताकि वह अपने परिवार में सभी को पढ़ा कर देश की तरक्की में अपना योगदान दे सकें।

घरेलू हिंसा को रोकना

आज के समय में घरेलू हिंसा मानव काफी तेजी से फैल रही है सारी औरतें इनका शिकार हो रहे हैं औरतों को मारा जाता है उन पर हिंसा किया जाता है जो कि बहुत ही गलत है।

अगर आपको लगता है कि घरेलू हिंसा सिर्फ उन औरतों में होता है जो शिक्षित नहीं होती है जो पढ़ी लिखी नहीं होती है तो आप यहां गलत है घरेलू हिंसा उनके साथ भी होता है जो शिक्षित महिलाएं हैं बस फर्क इतना है की अनपढ़ महिलाएं आवाज नहीं उठाती है इसलिए महिलाओं को आवाज उठाने की शक्ति देना बहुत जरूरी है। महिला सशक्तिकरण की मदद से महिलाओं में वह शक्ति आएगी ताकि घरेलू हिंसा जब किसी पर हो तो वह अपना आवाज उठा सके और उस इंसान को सजा भी दिला सके।

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना

जब हमारे घर में बेटियों का जन्म होता है तो उन्हें बचपन से ही सिखा दिया जाता है कि तुम्हें आगे चलकर अपने जीवन में सिर्फ बच्चे पैदा करना है और अपना घर गिरस्ती संभालना है जो कि उसके भविष्य के लिए बहुत ही गलत है।

Related:- Ek Bharat Shreshtha Bharat Essay in Hindi

अभी भी हमारे भारत देश में ऐसे जगह है जहां पर बेटियों को पढ़ाई तो ज्यादा घर के काम काज के बारे में बताया जाता है जो कि हमारे देश के विकास के लिए बहुत ही गलत बात है अगर आप अपनी बेटियों को शिक्षित नहीं करेंगे तो हमारे देश की 40% जनसंख्या अशिक्षित ही रह जाएगी इसलिए हम सभी मिलकर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाए ताकि वह अपने अच्छे जीवन के लिए निर्णय ले सके।

भारत देश में महिला सशक्तिकरण के लिए योजनाएं

मैं आपको बताता हूं कि हमारे भारत देश के सरकार के द्वारा ऐसे कई सारी योजनाएं हैं जो महिला सशक्तिकरण के लिए चलाई जाती है।

इन योजनाओं के वजह से हमारे भारत देश में बेटियों के लिए एक अलग द्वार खुल चुका है। महिलाएं अब खुलकर समाज के सामने निर्णय ले सकती हैं और बहुत सारे ऐसे बदलाव भी आए हैं जोकि सरकार द्वारा इन योजनाओं से आए है। ऐसे कुछ मुख्य योजनाओं के बारे में नीचे बताया गया है।

  • उज्जवल योजना  (Ujwal Scheme)
  • सरकार द्वारा योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (Beti Bachao Beti Padhao)
  • मुफ्त सिलाई मशीन योजना (Free Silai Machine Scheme)
  • महिला शक्ति केंद्र योजना (Mahila Shakti Kendra Scheme)
  • सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Scheme)
  • महिला हेल्पलाइन योजना (Mahila Helpline Scheme)

FAQ on Mahila Sashaktikaran 

Q1. महिला सशक्तिकरण का वास्तविक अर्थ क्या है?

महिला सशक्तिकरण का वास्तविक अर्थ महिलाओं को शक्तिशाली बनाना एवं समाज में हक दिलाना है।

Q2. भारत में महिला सशक्तिकरण का मुख्य बिंदु क्या है?

भारत में महिला सशक्तिकरण का मुख्य बिंदु एवं महत्त्व कुछ इस प्रकार है –

पुरुष और महिलाओं को एक सामान्य मानना
घरेलू हिंसा को रोकना
महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना
महिलाओं को प्रतिभाशाली बनाना

Q3. भारत में महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता क्यों पड़ी?

हमारे भारत देश में महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता इसलिए परी की हमारे देश की महिलाओं को अधिकार, सम्मान नहीं दिया जाता था उन्हें पुरुषों के मुकाबले हमेशा कम समझा जाता था इसलिए महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता परी और इसकी मदद से हर एक महिला अपने अधिकार के लिए समाज के सामने लड़ सके और अपने बेहतर जीवन का निर्णय खुल कर ले सके।

Conclusion 

महिला सशक्तिकरण एक ऐसा मुद्दा है जिसके बारे में बात करना बेहद जरूरी है और आज हमने तमाम उन सारे लोगों तक यह बात पहुंचाने की कोशिश की कि महिलाओं को उनका अधिकार उनको मिलना चाहिए क्योंकि हमारे देश की आधी जनसंख्या सिर्फ महिलाएं हैं अगर महिलाएं आगे नहीं बढ़ेगी महिला शिक्षित नहीं होगी तो हमारे देश का विकास कैसे होगा इसलिए महिलाओं को मान सम्मान देना हम सब का धर्म है।