Kamalpreet kaur Biography in Hindi : कमलप्रीत कौर हमारे देश की एक बेहतरीन महिला खिलाड़ी है जो ट्रैक और फील्ड एथलीट है और कमलप्रीत कौर डिस्कस थ्रो में अपना प्रदर्शन बहुत ही अच्छे से निभा रही हैं।

आजकल कमलप्रीत कौर का नाम बहुत ही सुना जा रहा है ऐसा क्यों है?

क्योंकि इन्होंने हाल ही में Tokyo Olympics में नौवें दिन अपने बेहतरीन तरीके से प्रदर्शन किया। और हम पूरे भारतीय वासियों के दिल में अपने लिए जगह भी बनाइए। कमलप्रीत कौर ओलंपिक खेलों में discus throw करके अपने लिए एक सर्वश्रेष्ठ जगह बनाने में कामयाब रही है मैं आपको बता दूं कमलप्रीत कौर का जन्म March 4, 1996 को पंजाब शहर में हुआ था।

Also Read:- Savita Punia Biography in Hindi

कमलप्रीत कौर पंजाब के श्री मुक्तसर साहिब जिले के एक छोटे से बादल गांव की रहने वाली है और कमलप्रीत कौर के बचपन के बारे में हम जानते हैं।

जैसा कि अक्सर सभी बच्चे के साथ होता है सभी बच्चे अपने बचपन में पढ़ने के ज्यादा शौकीन नहीं रहते हैं इसी तरह कमलप्रीत कौर भी अपने बचपन में पढ़ने की शौकीन नहीं थी और जैसे-जैसे कमलप्रीत बड़ी होती गई उनके कोच ने उनसे कहा कि तुम एथलीट्स में भाग क्यों नहीं लेती हो।

इसी तरह कमलप्रीत कौर खेल में भाग ली और एक बार कमलप्रीत के कोच उन्हें राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भी भाग लेने को कहें और उसमें खेलने के बाद कमलप्रीत कौर चौथे स्थान पर आई थी। इसके बाद कमलप्रीत कौर अपना करियर खेल में ही बनाने के लिए सोचा क्योंकि खेल के अनुसार कमलप्रीत कौर का शरीर बहुत तंदुरुस्त था बहुत फिट था और इसी वजह से कमलप्रीत कौर ने अपने भारत देश के लिए भारत का नाम रोशन करने के लिए इस खेल में शामिल हो गई।

Kamalpreet Kaur Biography in Hindi – Age, Height, Weight, Boyfriend, Family, National Debut

Kamalpreet Kaur Biography in Hindi

Quick Information About Kamalpreet Kaur in Hindi. अब हम कमलप्रीत कौर के बारे में पूरी बायोग्राफी जानते हैं (Kamalpreet Kaur Biography in Hindi) जैसे कि उनकी Height, Weight, Age, Birth Date, कहां के रहने वाली है, माता का नाम इत्यादि तो आइए जानते हैं।

नाम (Name)कमलप्रीत कौर
जन्म (Date of Birth)4 मार्च 1996
आयु (Age)25 साल (2021 में 25 साल की हो गई)
जन्मस्थान (Birth Place)बादल गांव, श्री मुक्तसर साहिब जिला, पंजाब
गृहनगर (Hometown)गांव बादल, श्री मुक्तसर साहिब जिला, पंजाब
शिक्षा ( Education)12वीं कक्षा पास है
स्कूल/कॉलेज (School/College)दशमेश गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल (Dashmesh Girls Senior Secondary School)
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
धर्म (Religion)पंजाबी
राशि (Zodiac Sign)मीन राशि
लंबाई (Height)6 फिट 1 इंच
वजन (Weight)106 किलो
आंखों का रंग (Eye Color)काला
बालों का रंग (Hair Color)काला
पेशा (Profession)डिस्कस थ्रोअर महिला खिलाड़ी (Discus Thrower)
राष्ट्रीय शुरुआत (National Debut)जूनियर नेशनल, बेंगलुरु, 2013
अंतरराष्ट्रीय शुरुआत (International Debut)एशियाई चैंपियनशिप, 2017
बेस्ट स्कोर (Best Score)66.59 मीटर
वैवाहिक स्थिति ( Marital Status)आवैवाहिक

दोस्तों मैं आपको बता दूं साल 2014 में कमलप्रीत कौर भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) केंद्र मैं डिस्क थ्रो का ट्रेनिंग शुरू किया और इसके बाद कमलप्रीत कौर अपनी मेहनत से अपनी लगन से साल 2016 में अंडर-18 और अंडर-20 मैं राष्ट्रीय चैंपियन बनी।

हाल ही में उन्होंने अपने मुकाबले में तीसरे प्रयास में 64 मीटर का स्कोर बनाया और इसी के साथ साथ मेडल के लिए अपनी बेहतरीन दावेदारी भी पेश की। कमलप्रीत कौर का इस खेल में प्रदर्शन लगभग 66.6 का रहा है और इसी तरह अगर फाइनल में भी कमलप्रीत कौर अपना प्रदर्शन दिखाती रही तो हमारे देश के लिए टोक्यो ओलंपिक्स में स्वर्ण पदक हासिल कर सकती है।

Also read:- Fouaad Mirza Biography in Hindi 

क्या आप जानते हैं?

कमलप्रीत कौर भारतीय रेलवे में क्लर्क के रूप में भी काम करती है इसके बावजूद कमलप्रीत कौर 24 वे फेडरेशन कप सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप (Federation Cup Senior Athletics Championship) में डिस्टेंस थ्रो में 65 मीटर का स्कोर पार किया था और ऐसे करने वाली वह भारत की पहली महिला खिलाड़ी बनी है।

इसी तरह कमलप्रीत कौर ने फेडरेशन कप सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 65.06 मीटर का डिस्कस थ्रो करके अपने लिए टोक्यो 2020 के लिए क्वालीफाई होकर जगह बनाई थी जो कि एक भारतीय महिला खिलाड़ी के लिए बहुत ही गर्व की बात थी।

Kamalpreet Kaur Early life in Hindi

अब हम जानते हैं कमलप्रीत कौर की बचपन की जिंदगी के बारे में कमलप्रीत कौर का जन्म 4 मार्च 1996 में पंजाब में हुआ था और कमलप्रीत कौर एक भारतीय एथलीट है भारत के लिए खेलती है जैसे कि मैंने आपको बताया कमलप्रीत कौर ऐसी पहली एथलीट महिलाएं जिन्होंने डिस्कस थ्रो में 65 मीटर बैरियर को पार किया था| कमलप्रीत कौर को सपोर्ट किया जाता है मैं उनके काम के लिए बढ़ावा दिया जाता है और यह सारे सपोर्ट गौस्पोर्ट्स फाउंडेशन के द्वारा किया जाता है।

Also Check:- Dutee Chand Biography in Hindi

जो कि हमारे इंडियन क्रिकेटर राहुल द्रविड़ के एथलीट मेंटरशिप प्रोग्राम के अंदर दिया जाता है।

इंटरव्यू के दौरान कमलप्रीत कौर ने यह बताया था कि उन्हें बचपन से पढ़ने लिखने में दिलचस्पी बिल्कुल नहीं होती थी और खेलकूद में बहुत दिलचस्पी होती थी कमलप्रीत कौर अपने बचपन में स्पोर्ट्स में काफी इंटरेस्टेड रहती थी और काफी खेलती कूदती रहती थी।

आपको यह शायद मालूम नहीं होगा! कमलप्रीत कौर बड़ी होकर एक प्रोफेशनल क्रिकेटर बनना चाहते थे लेकिन वह क्रिकेटर नहीं बन सकी उनकी खोज ने उनको अलग-अलग खेलों में भाग लेने के लिए कहा और जब उन्होंने बहुत सारे खेलों ने भाग लिया तब डिस्कस थ्रो उन्हें बहुत पसंद आया और उस खेल में उन्होंने बहुत सारे Prize भी जीते।

कमलप्रीत कौर की शुरुआत दौर में उन्हें बहुत तरह से परेशानी आती थी वह उन्होंने जब अपना करियर स्टार्ट किया था जब वह अपने गांव में थी और गांव में ज्यादा साधन ना होने की वजह से उनको बार-बार हॉस्टल जाना पड़ता था तो उन्होंने तय किया कि वह अपना ट्रेनिंग हॉस्टल में जाकर शुरू कर देंगे तो इस डिसीजन से कमलप्रीत की मां खुश नहीं थी लेकिन कमलप्रीत कौर के पिताजी ने सपोर्ट किए और उन्हें हॉस्टल में दाखिला दिला दिया| इसके बाद कमलप्रीत कौर हॉस्टल में अपनी ट्रेनिंग बहुत ही बेहतरीन तरीके से शुरू कर दी कमलप्रीत कौर के हार्ड वर्क और मेहनत की वजह से वह 2016 में अंडर 18 और अंडर 20 में डिस्क थ्रो में नेशनल चैंपियन भी बन चुकी थी और इसी तरह उन्होंने ऐसे कई वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में भी पार्टिसिपेट किया।

कमलप्रीत कौर से एक इंटरव्यू में पूछा गया था कि 2020 के टोक्यो ओलंपिक होने वाला था जो की कोरोनावायरस की वजह से नहीं हुआ तो आप उस लॉकडाउन में अपनी प्रैक्टिस कैसे करती थी?

Check this also:- Captain Vikram Batra Biography in Hindi

तो कमलप्रीत कौर ने उस इंटरव्यू के दौरान बताया की 2020 के लॉकडाउन के कारण वह घर पर ही अपनी Practice थी जिसमें से वह अपने डबल बेड उठाती थी और इसी के साथ-साथ फ्लावर पॉट को डंबल समझकर एक्सरसाइज करती थी ताकि उनकी Strength कम ना हो उनकी ताकत कम ना हो और यही एक वजह है कि कमलप्रीत कौर आज भारत का नाम रोशन कर रही है।

Kamalpreet Kaur Career in Hindi

अब हम जानेंगे कमलप्रीत कौर के करियर के बारे में जैसा कि मैंने आपको पहले ही बताया है कमलप्रीत कौर ने 2016 में राष्ट्रीय चैंपियनशिप में अंडर-18 और अंडर-20 में डिस्क थ्रो इवेंट के दौरान राष्ट्रीय चैंपियन बनी थी।कमलप्रीत कौरके करियर के बारे में मैं आपको पूरी जानकारी देने वाला हूं और मैं आपको एक-एक करके उनके करियर के बारे में बताने वाला हूं कि उन्होंने किस खेल में कैसा खेला क्या जीता और अब तक उन्होंने क्या-क्या हासिल किया है।

  • 2017 के वर्ष में कमलप्रीत कौर ताइवान में आयोजित वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में पदार्पण किया और 55.07 मीटर के डिस्कस थ्रो के साथ छठे स्थान पर बनी रही और इसी के साथ साथ वह एक कलर के रूप में भारतीय रेलवे में भी शामिल रही और राष्ट्रीय स्तर पर उनका प्रतिनिधित्व भी करती रही|
  • 2019 में कमलप्रीत कौर ने दोहा, कतर में 55.59 मीटर का डिस्कस थ्रो किया और इसी के साथ पांचवा स्थान भी हासिल किया पर मैं आपको बता दूं उसी साल कमलप्रीत कौर 2019 में फेडरेशन कप सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 60.25 मीटर का डिस्कस थ्रो रिकॉर्ड बनाया और शादी में गोल्ड मेटल भी हासिल किया|
  • इस सफलता के बाद तुम्हें प्रीत कौर को गोस्पोर्ट्स फाउंडेशन से सपोर्ट मिलना शुरू हो गया और 2020 के साल में उसने फेडरेशन कप सीनियर एथलीट्स चैंपियनशिप, पटियाला में डिस्कस थ्रो इवेंट मैं राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा और इसी सफलता ने कमलप्रीत कौर को टोक्यो ओलंपिक 2020 में, अपने लिए जगह बनाने का मौका भी मिला|
  • 2021 कि साल में कमलप्रीत कौर जो कि एक पंजाबी एथलीट्स हैं उन्होंने इंडियन ग्रां प्री 4, (Indian Grand Prix 4) पटियाला में अपना रिकॉर्ड तोरा और उसी साल कमलप्रीत कौर ने 64 मीटर के निशाने के साथ डिस्कस थ्रो के लिए 2020, टोक्यो ओलंपिक फाइनल के लिए क्वालीफाई भी किया|
  • कमलप्रीत कौर ने अपनी पूरी जिंदगी में अपने खेल को बहुत ज्यादा प्यार किया है उसे बहुत ज्यादा महत्व दिया है खेलों को अधिक Importance देने के वजह से आज वह यहां तक पहुंची है और वह अपने जीवन में लगातार सफलता प्राप्त करती आई है इन सारे सफलता को प्राप्त करने में उनकी जीवन में ऐसी बहुत सारी मुसीबत आई थी लेकिन उन्होंने एक-एक करके सब का सामना किया और धीरे-धीरे अपने लक्ष्य की तरफ आगे बढ़ते रहें और सफल बनती गई|

Kamalpreet Kaur Achievements in Hindi

कमलप्रीत कौर 2019 एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में दोहा में पांचवें स्थान का मुकाम हासिल किया।

  • कमलप्रीत कौर ने पटियाला में 24वे फेडरेशन कप सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप, के दौरान एक रिकॉर्ड बनाया और उस रिकॉर्ड में 65.25 मीटर डिस्कस थ्रो करके गोल्ड मेडल जीता और टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए क्वालीफाई भी किया।
  • एक और बहुत बड़ी Achievements जो कि 2021 में, कमलप्रीत कौर ने बनाया वह भारतीय ग्रैंड प्रिक्स-4 में उन्होंने 66.59 मीटर डिस्कस थ्रो करके राष्ट्रीय महिला का रिकॉर्ड बनाया।

Kamalpreet Kaur Tokyo Olympics 2021 Details in Hindi

हाल ही में कमलप्रीत कौर ने टोक्यो ओलंपिक के नौवें दिन में मुकाबले कि तीसरे प्रयास में 64 मीटर का स्कोर बनाया और स्कोर बनाकर मेडल के लिए एक बेहतरीन दावेदारी पेश की है| अपने इस बेहतरीन दावेदारी से वह फाइनल तक पहुंच चुकी है और बस अब सभी को उनके गोल्ड मेडल जीतने का इंतजार है वह भारत वासियों के लिए कड़ी मेहनत करके स्वर्ण पदक जरूर हासिल करेंगी।

Also Read:- Lovlina Borgohain Biography in Hindi

FAQ on Kamalpreet Kaur Biography

Q1. कमलप्रीत कौर कौन है और क्या करती है?

कमलप्रीत कौर एक भारतीय Athlete है और डिस्कस थ्रो (Discus Throw) खेल को खेलती है।

Q2. कमलप्रीत कौर कहां के रहने वाली है?

कमलप्रीत कौर पटियाला पंजाब की रहने वाली है।

Q3. कमलप्रीत कौर की हाइट कितनी है?

कमलप्रीत कौर की हाइट 6 फिट 1 इंच है।

Q4. कमलप्रीत कौर का गांव का नाम क्या है?

प्रीत कौर का गांव का नाम गांव बादल है।

Q5. कमलप्रीत कौर के कोच का नाम क्या है?

कमलप्रीत कौर के कोच का नाम राखी त्यागी है।

Q6. Kamalpreet Kaur किस खेल से संबंधित हैं?

कमलप्रीत कौर डिस्कस थ्रो खेल से संबंधित है।

Q7. कमलप्रीत कौर का मनपसंद खाना क्या है?

कमलप्रीत कौर का मंदिर दिखाना पनीर की सब्जी और आलू के पराठे हैं इन्हें बहुत प्यार से खाती है।