End to End Encrypted Meaning in Hindi – पूरी जानकारी हिंदी में

आज के समय में सभी लोगों के पास एक Smartphone होता ही है और सब लोग Internet के माध्यम से एक दूसरे के साथ जुड़ पाते हैं। आपने भी Video Calling के दौरान आपने फोन में “end to end encrypted” देखा होगा।

क्या कभी आपने सोचा कि इसका मतलब क्या होता है यह काम कैसे करता है यह है क्या? दोस्तों आज मैं आपको end to end encrypted meaning in hindi के बारे में विस्तार रूप से बताने वाला हूं।

आज के इस लेख में हम जानेंगे की End to End Encrypted Kya Hota Hai, यह कैसे काम करता है इसके फायदे क्या है इसके नुकसान क्या है और अंत में   इस से जुड़ी कुछ सवालों के जवाब भी मैं आपको दूंगा जिसके बारे में आपको जानकारी होनी बहुत जरूरी है।

दरअसल Encryption एक डिजिटल Technique है जिसका इस्तेमाल हम अपने Data को Secure और Private करने के लिए करते हैं इसलिए आप सभी को इसके बारे में जानकारी होनी बहुत जरूरी है ताकि आप इसका इस्तेमाल कर सके।

आपको कभी भी अपने मोबाइल में end to end encrypted लिखा दिखाई दे तो आप समझ जाएगा कि आपके सुरक्षा के लिए आपके Data को Encrypt किया गया है यह बहुत ही अच्छा और सुरक्षित तकनीक है।

Related:- What is NEFT in Hindi | NEFT की पूरी जानकारी हिंदी में

अगर इसके बारे में पूरी जानकारी आपको नहीं होगी तब इसके नुकसान भी आप झेल सकते हैं और दोस्तों मैं आपको बता दूं यह Feature ज्यादातर Whatsapp जैसे Apps पर इसकी सुविधा मिलती है।

End to End Encrypted का मतलब क्या है?

End to End Encrypted Meaning

End to End Encrypted एक बहुत पुरानी इंटरनेट का एक बेहतरीन तकनीक है जो काफी समय से चलती आ रही है इस तकनीक का इस्तेमाल बहुत सारे एप्लीकेशन में देखा गया है।

अगर आसान भाषा में बोला जाए तो इस तकनीक का मतलब होता है जिसमें दो लोग आपस में बातचीत करते हैं अपने डाटा का आदान प्रदान करते हैं उस डाटा को या फिर उस बातचीत को कोई तीसरा व्यक्ति नहीं समझ सकता या देख सकता उसे हम End to End Encrypted कहते हैं।

Encryption एक बहुत ही मददगार तकनीक है जो हम लोगों के बहुत ही काम आता है क्योंकि हम लोग नहीं चाहते हैं कि हमारे प्राइवेसी को कोई देखे या फिर पड़े इसलिए सारे एप्लीकेशन मैं आपको Encryption का विकल्प देखने को मिल ही जाता है।

Encryption के मदद से जब भी हम अपने डाटा को किसी दूसरे व्यक्ति को देते हैं तब यह उसे एक ऐसे फॉर्मेट में बदल देता है जो किसी की समझ में नहीं आता है और जिसे केवल Data भेजने और प्राप्त करने वाले व्यक्ति के Device मैं ही खुल पाता है।

Also Read:- Poco किस देश की कंपनी है? 

इंक्रिप्शन के इस Process में जितनी भी Files या Data होती है वह सिर्फ Sender और Receiver के डिवाइस में ही देखा जाता है इसलिए इस प्रोसेस को “End To End Encrypted” के नाम से जाना जाता है इसके माध्यम से हमारा सारा Data सुरक्षित रहता है।

End to End Encrypted कैसे काम करता है

यह बहुत ही जबरदस्त तरीके से काम करता है इसका काम करने का तरीका बहुत ही मजेदार है इसे बहुत ही आसान तरीके से समझने के लिए हमें एक उदाहरण समझना होगा।

जैसे कि मान लीजिए दो दोस्त है एक रमेश दूसरा रवि अब रमेश रवि को Private Chat के द्वारा “Hello” करके मैसेज करना चाहता है अब रवि के पास दो Keys है पहला Public दूसरा Private और यह दोनों Encryption Keys से जुड़े हुए हैं।

रमेश मैसेज को Encrypt करने के लिए रवि के Public Keys का इस्तेमाल करेगा जहां पर रमेश ने “Hello” मैसेज किया था उस शब्द को हटाकर वहां कुछ Random Characters डाल दिया जाएगा।

जिसे हम Technically Ciphertext के नाम से जानते हैं। अब रमेश इस Encrypted Message को इंटरनेट पर भेजता है यह मैसेज कई सारे Server से होकर गुजरता है जो उनके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाले Internet Service Provider से संबंधित होते हैं।

इसके दौरान अगर यह कंपनी इस मैसेज को पढ़ने की कोशिश करती है या फिर कोई Third Party इसे पढ़ने का प्रयास करता है तब उससे Plain Text में करना बहुत ही मुश्किल होता है और इसी वजह से रवि ही सिर्फ अपने Private Keys का इस्तेमाल करके इस Encrypted Message को पढ़ सकता है।

Encryption कितने प्रकार के होते हैं | Types of Encryption in Hindi

Encryption के दो प्रकार होते हैं और इन दोनों के बारे में आपको जानकारी होना बहुत जरूरी है क्योंकि Encryption एक बहुत ही अच्छा और Secure साधन है अपने Data को सुरक्षित रखने का इंक्रिप्शन के दो प्रकार कुछ इस तरह है –

  1. Symmetric Encryption
  2. Asymmetric Encryption 

1. Symmetric Encryption किसे कहते है

Symmetric Encryption के अंदर Encryption और Decryption करने के लिए हमारे पास सिर्फ एक ही Keyy मौजूद होता है जब आपको किसी तरह का Data को किसी अलग जगह भेजना होता है तब आपको उस Encryption Message के साथ वही Key को भेजना पड़ता है तभी जाकर जिसको आपने मैसेज भेजा है वह आपकी मैसेज को पढ़ पाएग।

आमतौर पर Symmetric Encryption का इस्तेमाल हर कोई नहीं करता है क्योंकि यह बहुत टेक्निकली हो जाता है इसका इस्तेमाल बड़ी-बड़ी कंपनियों में की जाती है।

2. Asymmetric Encryption किसे कहते हैं

जैसा कि हमने जाना Symmetric Encryption में हमें एक ही Key दी जाती है जिसकी मदद से हम किसी मैसेज को Encrypt या Decrypt कर पाते हैं लेकिन Asymmetric Encryption में ऐसा बिल्कुल नहीं है इसमें हमें दो Keys की जरूरत पड़ती है।

पहला Public Key और दूसरा Private Key और इसका इस्तेमाल हम लोग करते हैं और यह Encryption ज्यादातर Applications में मौजूद होता है जैसे कि WhatsApp जैसे मैसेजिंग ऐप में इस तरीकों का इस्तेमाल करके किसी भी मैसेज का Encryption किया जाता है।

इसमें हर User के पास दो तरह के Keya मौजूद होते हैं Private Key वह होता है जो कि खुद User होता है और यह अलग अलग हो सकता है लेकिन Public Key सब के पास सिर्फ एक ही रहता है और यह किसी का भी अलग नहीं रहता यह सब का सामान रहता है।

Related:- Call Barring Kya Hai – इसे कैसे इस्तेमाल करें

जब आप Public Key का इस्तेमाल करके किसी भी User को Message भेजेंगे तब वह Message को पढ़ने के लिए अपने Private Key का इस्तेमाल करेगा और यह सब Automatic होता है इसके लिए आपको कुछ भी नहीं करना पड़ता है।

End to End Encrypted Meaning in WhatsApp

WhatsApp मैं इसका इस्तेमाल इसलिए किया जाता है कि जब आप किसी भी User को कोई Message करते हो Image भेजते हो Video Call करते हो Videos भेजते हो तब वह सारा Data गुप्त रखने के लिए WhatsApp मैं End to End Encryption का इस्तेमाल किया जाता है।

इसकी मदद से कोई भी तीसरा व्यक्ति आपके Data को नहीं देख सकता है ना ही सुन सकता है और ना ही पड़ सकता है यहां तक कि आपके टेलीकॉम ऑपरेटर भी WhatsApp Data को नहीं देख सकते हैं।

पहले के समय में यह सारे तरीके मौजूद नहीं हुआ करते थे इसलिए Privacy को लेकर Data Security को लेकर हम सभी को बहुत चिंता रहती थी और यह कई मामलों में तो खतरनाक भी साबित हो जाता था जैसे कि – 

सरकार की गुप्त जानकारियां, सुरक्षा संबंधी डाटा, बिजनेस की बरी बरी Deals की जानकारियां आदि हैक होने का खतरा रहता था। लेकिन जब से End to End Encrypted का विकल्प हम सभी के सामने आया है तब से हमारा डाटा बहुत ही सुरक्षित तरीके से दूसरे User के पास चला जाता है।

Also Read:- Windows 11 Download कैसे करे?

Whatsapp में ज्यादातर इस तरीके का इस्तेमाल किया जाता है इस तरीके से जो भी Files या फिर Data किसी को भेजा जाता है तब उसे सिर्फ Sender और Receiver ही पढ़ सकते हैं इसके अलावा कोई Third Party उस मैसेज को किसी भी तरीके से नहीं पढ़ सकता है।

End to End Encrypted के फायदे

Encryption का इस्तेमाल अब हर जगह होना शुरू हो चुका है क्योंकि आजकल डाटा हैक होने के खतरे बहुत बढ़ गए है इसीलिए इस Feature को हर जगह पर लागू कर दिया क्या कवि सारी फायदे हैं जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • End To End Encrypted होली के मदद से हमारा डाटा कोई भी किसी भी तरीके से हैक नहीं कर पाता है इस तरीके में किसी भी तरीके के Data को Unlock करने के लिए आपके पास ही सिर्फ Private Key होती है अगर कोई Hacker आपके Data को Hack कर लेता है लेकिन फिर भी उसके पास Private Key ना होने की वजह से वह उस Data को Open नहीं कर पाएगा।
  • Encryption का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपके प्राइवेसी की पूरी सुरक्षा आपको मिलती है आपके ने दी जानकारी के बारे में किसी को कुछ भी नहीं पता चलता है इस वजह से आपका सारा डाटा एकदम सुरक्षित रहता है यहां तक कि आपके Service Provider, Telecom Operator भी आपके मैसेज को नहीं पढ़ सकता।
  • आजकल हम सभी अपने सारे काम Internet के माध्यम से ही करते हैं हम अपने Business के Deals WhatsApp जैसे Messaging App की मदद से ही करते हैं सरकार या फिर बड़ी-बड़ी कंपनियां अपनी सारी जानकारी WhatsApp के माध्यम से ही भेजती है End to End Encrypted के Feature की वजह से सभी के Data एकदम Secure और सुरक्षित रहते हैं।

End to End Encrypted के नुकसान

अगर हम बात करें तो इसके फायदे तो बहुत सारे हैं लेकिन जहां फायदा होता है वहां नुकसान भी होता है End to End Encrypted के भी कुछ नुकसान है जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • End to End Encrypted की मदद से सारा बातचीत सिर्फ दो लोगों के बीच में होती है यह तो इसका फायदा है ही लेकिन इसी के साथ इसके कुछ नुकसान भी है इसका उपयोग कोई भी गलत तरीके से कर सकता है।
  • इसमें कोई भी किसी भी तरह के गलत जानकारियां भड़काने वाले मैसेजेस, अफवाह किसी को भी बहुत ही आसानी से भेज सकता है और उस मैसेज को कोई भी Monitor नहीं कर सकता है।
  • हमारे देश में जितना भी गलत काम होते हैं वह सारे इंटरनेट के माध्यम से ही होते हैं जिसमें सरकार या फिर पुलिस किसी के भी Data को नहीं पढ़ पाएगी इस वजह से गैरकानूनी गलत काम बढ़ सकता है।

End to End Encrypted इस्तेमाल करने वाले Apps

अब जानते हैं उन Applications के बारे में जो End to End Encrypted का इस्तेमाल करती है इसमें से कुछ ऐसे Apps आप अपने Mobile फोन पर जरूर इस्तेमाल करते हैं लेकिन आपको नहीं पता होगा आइए उन एप्लीकेशन को जानते हैं।

  • WhatsApp 
  • Facebook Messenger
  • Zoom
  • Email
  • Signal
  • Viber
  • Telegram
  • Samsung Messages
  • Google Messages 

FAQ on End to End Encrypted Meaning in Hindi 

Q1. Whatsapp मैं End to End Encryption का मतलब क्या है?

WhatsApp में इसका मतलब यह होता है कि आप किसी दूसरे व्यक्ति को कोई message करते हो किसी भी तरह का वीडियो भेजते हो कॉल करते हो तब उस दौरान आपका सारा डाटा उस दूसरे व्यक्ति के पास ही जाता है और किसी के पास नहीं जाता जिसकी वजह से आपकी सारी निजी जानकारी सुरक्षित रहती है।

Q2. WhatsApp पर end to end encryption का फ्यूचर क्यों दिया गया है और इससे यूजर सुरक्षित कैसे रह सकते?

WhatsApp मैं इस फीचर को इसलिए दिया गया है ताकि किसी का भी निजी जानकारी कोई तीसरा इंसान नहीं जान सके। Encryption की मदद से यूजर इसलिए सुरक्षित रह पाते हैं क्योंकि इसमें आपके द्वारा भेजे गए Message, Video सब सुरक्षित रहता है आपकी Data को कोई भी Hack नहीं कर सकता है।

Q3. एंक्रिप्शन का अर्थ क्या है?

एंक्रिप्शन एक बहुत ही पुराना तकनीक है जिसका इस्तेमाल दो लोगों के बीच के Data को सुरक्षित रखने का काम करता है।

Q4. क्या End to end Encrypted सुरक्षित है?

हां यह तरीका बहुत ही ज्यादा सुरक्षित है इन तरीकों के मदद से आपका Privacy सुरक्षित रहता है।

Conclusion 

आज के इस आधुनिक जमाने में लोग अपना सारा काम अपने Smartphone के द्वारा ही करते हैं आजकल पूरा देश Digital हो चुका है और इस डिजिटल दुनिया में सभी लोग अपने जानकारियों का भी आदान प्रदान करते हैं।

इसमें अगर सभी का Data सुरक्षित नहीं होगा तब न जाने हमारे देश में इसका कितना सदुपयोग हो सकता है End to End Encrypted Meaning in Hindi के माध्यम से आज हम पूरी तरह से सुरक्षित है हमारे निजी जानकारी के बारे में कोई तीसरा व्यक्ति नहीं जान सकता है।

इस फीचर के बारे में आपको जानकारी होना बहुत जरूरी है और मैंने आपको इसके बारे में पूरा विस्तार रूप से बता दिया है अगर सभी लोग इसके बारे में जानेंगे तब कोई भी गलत काम नहीं कर पाएगा और हमारा देश सुरक्षित रहेगा।

"Hey, I’m Mangesh Kumar Bhardwaj, A Full Time Blogger , YouTuber, Affiliate Marketer and Founder of BloggingQnA.com and YouTube Channel. A guy from the crowded streets of India who loves to eat, both food and digital marketing. In the world of pop and rap, I listen to Ragni."

Leave a Comment