Abhinav Bindra Biography in Hindi : आज हम बात करने वाले हैं अभिनव बिंद्रा के बारे में अभिनव बिंद्रा हमारे देश के एक प्रोफेशनल निशानेबाज है और ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले अभिनव बिंद्रा हमारे देश के लिए हमारे भारत के एक सर्वश्रेष्ठ निशानेबाज माने जाते है।

भारत देश में हर भाग्य में ऐसे ऐसे खिलाड़ी मौजूद है जिन्होंने अपनी मेहनत से हमारे देश भारत का नाम रोशन किया है और उन्होंने सिर्फ भारत में ही अपना नाम नहीं किया है बल्कि बाहर विदेशों में भी नाम रोशन किया है।

मैं आपको बता दूं अभिनव बिंद्रा एक पंजाबी सिख परिवार के रहने वाले हैं और शूटिंग करना निशाना लगाना अभिनव बिंद्रा को बचपन से ही बहुत पसंद था वह बचपन से ही चाहते थे कि बड़े होकर वह एक निशानेबाज बने जो कि वह बने और इसी के साथ अपना और अपने भारत देश का नाम भी रोशन किए।

ALso Read:- Neeraj Chopra Biography in Hindi

अभिनव बिंद्रा 1998 में कॉमनवेल्थ गेम्स में इन्होंने अपने भारत को पूरी दुनिया के सामने रिप्रेजेंट किया था और उस समय इनकी उम्र सिर्फ 15 साल की थी इतने छोटे से उम्र में इन्होंने अपने भारत देश को रिप्रेजेंट किया जो कि एक अपने आप में बहुत बड़ी बात है।

इसी के साथ जब भी हमारे देश में एयर राइफल की इस पर था और मेडल की बात होगी तब तब अभिनव बिंद्रा का नाम ऊपर आएगा| 2008 के वर्ष में अभिनव बिंद्रा ने बीजिंग ओलंपिक में व्यक्तिगत स्पर्धा के दौरान हमारे देश को स्वर्ण पदक से नवाजा था।

और इसी के साथ साथ व्यक्तिगत गोल्ड मेडल को अपने नाम करने वाला वह पहले खिलाड़ी बने और यहां उनका सफर खत्म नहीं हुआ है मैं आपको बता दूं 2016 में अभिनव बिंद्रा विश्व विजेता भी रह चुके हैं|

Abhinav Bindra Biography in Hindi – Age, Height, Wife, Net Worth, Career, Olympics

Abhinav Bindra Biography in Hindi

Quick Information About Abhinav Bindra Biography.

नाम (Name)अभिनव सिंह बिंद्रा
पिता का नाम (Father Name)डॉ अर्पित बिंद्रा
माता का नाम (Mother Name)बबली बिंद्रा
जन्म (Birth Date)28 सितंबर 1982
जन्मस्थान (Birth Place)देहरादून, उत्तराखंड
आयु (Age)39 Year
शिक्षा (Education)बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन [B.B.A]
पेशा (Profession)प्रोफेशनल शूटर और बिजनेसमैन
कोच (Coach)डॉक्टर अमित भट्टाचार्जी, लेफ्टिनेंट कर्नल ढिल्लो
कमाई (Net Worth)लगभग 7 करोड़
लंबाई (Height)5 फीट 8 इंच
वजन (Weight)65.5 किलोग्राम
राशि (Zodiac Sign)तुला राशि
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
अभिनव बिंद्रा डेब्यू (First Debut)कॉमनवेल्थ गेम्स 1998
पत्नी का नाम (Wife Name)ज्ञात नहीं
फेवरेट क्रिकेटर (Favorite Cricketer)सचिन तेंदुलकर
धर्म (Religion)सिख

अभिनव बिंद्रा का जन्म 28 सितंबर 1983 को देहरादून में हुआ था और इनकी आयु 38 साल है और जैसा कि मैंने आपको बताया इन्होंने बहुत ही कम उम्र में ही अपने भारत देश का नाम उजागर कर दिया था और अपने बाहर देश के लिए निशानेबाजी शुरू कर दी थी अभिनव बिंद्रा अभी पढ़ाई में एमबीए किया है और इसी के साथ साथ फ्यूचरिस्टिक कंपनी के वह सीईओ (CEO) भी है।

जैसा कि मैंने आपको बताया अभिनव बिंद्रा बचपन से ही शूटिंग में बहुत दिलचस्पी रखते थे और वह चाहते थे कि वह बड़े होकर एक बेहतरीन निशानेबाज खिलाड़ी बने और अपने भारत देश का नाम रोशन करें और इसी वजह से अभिनव बिंद्रा के माता-पिता ने भी इनका बहुत सपोर्ट किया।

Also Read:- Vinesh Phogat Biography in Hindi 

इन्हें इस खेल में आगे बढ़ाया जिस तरह से अभिनव बिंद्रा शूटिंग को खेलते थे उनकी प्रेक्टिस किया करते थे उस जुनून को देख कर उनके माता- पिता ने उनके लिए अपने घर में ही जो कि पटियाला में था वहां उन्होंने शूटिंग रेंज बना दिया था ताकि अभिनव बिंद्रा अपनी प्रैक्टिस अच्छी तरह से कर पाए और इस सफर में इनका साथ देने के लिए हिंदी खोज भी थे जिनका नाम डॉ अमित भट्टाचार्जी और लेफ्टिनेंट कर्नल ढिल्लों था।

Abhinav Bindra Early Life in Hindi

दोस्तों अब बात करते हैं हम अभिनव बिंद्रा के जीवन के बारे में जैसा कि मैंने आपको बताया अभिनव बिंद्रा का जन्म 28 सितंबर 1983 को देहरादून उत्तराखंड में हुआ था और इनके पिताजी का नाम अर्पित बिंद्रा है और वह एक बिजनेसमैन है और इनके माता जी का नाम बबली बिंद्रा है।

जो कि वह एक हाउसवाइफ है| मैं आपको बता दूं अभिनव बिंद्रा अपनी शुरुआती पढ़ाई देहरादून से की थी देहरादून में स्थित एक स्कूल है जिसका नाम कुलीन डॉन स्कूल है वहां से उन्होंने अपनी पढ़ाई शुरू की लेकिन कुछ समय के बाद अभिनव बिंद्रा ने चंडीगढ़, पंजाब में स्थित सेंट स्टीफन स्कूल मैं पढ़ने के लिए चले गए।

इसी के साथ अभिनव बिंद्रा ने साल 2000 में अपनी हाई स्कूल की शिक्षा पर्याप्त करके कोलोराडो विश्वविद्यालय से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन स्नातक की उपाधि हासिल की अभिनव बिंद्रा का बचपन काफी चंचल सारा है अभिनव को बचपन से ही खेलकूद में दिलचस्पी थी और शूटिंग करना निशानेबाज कर करना उन्हें बेहद पसंद था।

उनका यह जुनून देखकर उनके माता-पिता ने पटियाला में अपने घर में शूटिंग रेंज स्थापित कर दी थी| इसके माध्यम से वह अपने घर में प्रैक्टिस करें और खुद को आगे बढ़ाएं।

Also Check;- Kamalpreet Kaur Biography in Hindi

अपना भतरा के सबसे पहले जो मेंटर थे उनका नाम डॉ अमित भट्टाचार्य था इसके बाद जब वह धीरे-धीरे आगे बढ़ते गए उन्हें
और ज्यादा सीखना था तब इसके बाद उनके कोच लेफ्टिनेंट करना ढिल्लो बने और उन्हें आगे की ट्रेनिंग दी।

Abhinav Bindra Career in Hindi

अब बात करते हैं अभिनव बिंद्रा के करियर के बारे में दोस्तों इनका करियर काफी मजेदार रहा है और काफी दिलचस्प रहा है इन्होंने बहुत कम उम्र में ही राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लेना शुरू कर दिया था मैं आपको एक- एक करके बताऊंगा कि इन्होंने अपनी शुरुआती दौर से लेकर अब तक कैसा प्रदर्शन दिखाया है और किस तरह से अपने भारत देश का नाम रोशन किया आइए फिर जानते हैं|

  • 1998 मैं, अभिनव बिंद्रा ने सिर्फ 15 साल की उम्र में ही कुआलालंपुर मैं आयोजित हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लिया और सबसे दिलचस्प बात यह है कि उन सारे खिलाड़ियों में से सबसे कम उम्र वाले खिलाड़ी हमारे अभिनव बिंद्रा ही थे जिन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लिया था।
  • 2000 में, अभिनव बिंद्रा सिडनी की ओलंपिक के लिए भारतीय टीम का एक हिस्सा थे लेकिन यह प्रतियोगिता में अभिनव बिंद्रा क्वालीफाइंग दौर से आगे नहीं जा सके थे यह उनके लिए थोड़ा निराशाजनक साबित हुई थी।
  • 2001 में, अभिनव बिंद्रा ने म्यूनिख विश्वकप में अपने दमदार प्रदर्शन से 597/600 अंकों के साथ जूनियर विश्व स्कोर में कांस्य पदक को हासिल किया था और इसी के साथ इसी वर्ष में अलग-अलग अंतरराष्ट्रीय मैचों में उन्होंने 6 स्वर्ण पदक भी जीते थे।
  • 2002 में, मैनचेस्टर में आयोजित हुए राष्ट्रमंडल खेलों में अभिनव बिंद्रा ने 10 मीटर एयर राइफल पेअर में गोल्ड मेडल को हासिल किया और इसी के साथ साथ 10 मीटर एयर राइफल एकल में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था।
  • 2004 में, बात करें तो एथेंस ओलंपिक में अभिनव बिंद्रा का प्रदर्शन उतना अच्छा नहीं था फिर भी इन्होंने अंतिम आठ में अपनी जगह बनाई थी।
  • 2006 में, अभिनव बिंद्रा ने क्रोएशिया के जाग्रैब में आयोजित किया गया आईएसएसएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप (Issf World Shooting Championship) में अपने नाम स्वर्ण पदक की थी और इसके बाद उन्होंने यह भी इतिहास बनाया था कि वह 1 पदों को हासिल करने वाले पहले भारतीय बने थे और इसी के साथ साथ उसी साल मेलबर्न राष्ट्रमंडल खेलों में अभिनव बिंद्रा ने क्रमश: 10 मीटर एयर राइफल (Pair) और 10 मीटर एयर राइफल (एकल) में स्वर्ण और कांस्य दोनों पदक अपने नाम किया था।
  • 2008 में, बीजिंग मैं आयोजित ओलंपिक में मेंस 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में स्वर्ण पदक हासिल किया था और यह छन अभिनव बिंद्रा के करियर का सबसे महत्वपूर्ण पल्सर क्योंकि अभिनव बिंद्रा स्वर्ण पदक से हमारा देश भारत में 28 सालों बाद ओलंपिक में से कोई स्वर्ण पदक जीतकर लाया गया था इस स्वर्ण पदक को जीतने के 28 साल पहले 1980 में मॉस्को ओलंपिक में मेंस फील्ड हॉकी टीम ने स्वर्ण पदक को जीता था।
  • 2010 मैं, भारत के दिल्ली शहर में आयोजित हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में अभिनव बिंद्रा ने गगन नारंग के साथ पार्टनरशिप में 10 मीटर एयर राइफल (Pair) इवेंट में स्वर्ण पदक को जीता था और 10 मीटर एयर राइफल (एकल) इवेंट में एक बार फिर सिल्वर मेडल जीतकर अपने भारत का नाम रोशन किया था।
  • 2012 में, अभिनव बिंद्रा ने लंदन के ओलंपिक्स में क्वालीफाई नहीं कर पाए थे लेकिन 2014 में ग्लासगो हुए हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में एक बार फिर से अभिनव बिंद्रा ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया और 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में स्वर्ण पदक जीता और अपने देश का नाम ऊंचा किया।
  • 2016 मैं, जैसा कि आप लोग जानते हैं रियो ओलंपिक में मेंस 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में अभिनव बिंद्रा ने चौथा स्थान हासिल किया था।

Abhinav Bindra Awards and Achievements in Hindi

मैं आपको बताता हूं अभिनव बिंद्रा के उन अचीवमेंट के बारे में जिन्होंने अपनी जिंदगी में पाई है और बहुत ही कम उम्र में उन्होंने इस खेल में अपने आप को डाल दिया था और इसी के साथ मैं आपको एक एक करके बताता हूं कि उनको किस-किस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

  • 15 साल की उम्र में ही राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लिया था और उस खेल में सबसे युवा खिलाड़ी भी बने थे।
  • 18 साल की उम्र में अभिनव बिंद्रा को राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था और इस अवार्ड को पाने वाले हो सबसे पहले भारतीय खिलाड़ी भी बने थे।
  • ओलंपिक में व्यक्तिगत स्पर्धाओं में स्वर्ण पदक हासिल करने वाले अभिनव बिंद्रा पहले भारतीय खिलाड़ी बने थे।
  • 2000 में अभिनव बिंद्रा को अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • 2001 में अभिनव बिंद्रा को राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • 2009 मैं अभिनव बिंद्रा को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था जो कि एक भारतीय खिलाड़ी के लिए बहुत बड़ी बात थी।
  • 2011 में अभिनव बिंद्रा को इंडियन टेरिटोरियल आर्मी द्वारा किया गया Honorary Lieutenant Colonel अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

Abhinav Bindra Net Worth in Hindi

अभिनव बिंद्रा चौकी एक भारतीय शूटिंग चैंपियन जिन्होंने अपनी मेहनत से वर्ल्ड चैंपियन और ओलंपिक विजेता बनकर अपने भारत का और अपना नाम रोशन किया है लेकिन ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिनके मन में यह सवाल आता है कि इतना कुछ अजीब कर कर इतने अवार्ड अपने नाम करके अभिनव बिंद्रा की कमाई कितनी होती होगी अगर हम बात करें उनके नेट वर्थ की तो जो अनुमान लगाया जा रहा है उनके अनुसार अभिनव बिंद्रा की एक मिलियन डॉलर के आसपास नेटवर्क है।

Check this Also:- Savita Punia Biography in Hindi

Abhinav Bindra Wife and Marriage in Hindi

अभिनव बिंद्रा का उम्र 39 साल हो चुका है लेकिन अब तक अभिनव बिंद्रा ने शादी नहीं की इतने बेहतरीन खिलाड़ी हैं लेकिन अभी तक उन्होंने शादी नहीं की क्योंकि वह मानते हैं कि उनके लिए सब कुछ उनका खेल ही है वह सिर्फ अपने खेल पर ध्यान देते हैं और अपने खेल से प्यार करते हैं और दिन पर दिन उससे और बेहतर बनाते जाते हैं| ऐसे बहुत सारे इंटरव्यूज में उनसे यह सवाल किया गया था कि आपने अब तक शादी क्यों नहीं की तो उनका जवाब हमेशा एक ही रहा है कि उनको अभी अपने करियर पर फोकस करना है और अपने आप को आगे बढ़ाना है|

FAQ on Abhinav Bindra Biography in Hindi

Q1. अभिनव बिंद्रा का जन्म कब और कहां हुआ था?

अभिनव बिंद्रा का जन्म 28 सितंबर 1983 को देहरादून, उत्तराखंड में हुआ था|

Q2. अभिनव बिंद्रा ने Gold Medal कब जीता था?

अभिनव बिंद्रा ने Gold Medal 11 अगस्त 2008 को बीजिंग ओलंपिक में जीता था|

Q3. अभिनव बिंद्रा के कोच कौन कौन थे?

अभिनव बिंद्रा के कोच (Mentor) डॉ अमित भट्टाचार्य थे और इसके बाद लेफ्टिनेंट कर्नल ढिल्लों बने थे|

Q4. अभिनव बिंद्रा के पिताजी का नाम क्या है?

अभिनव बिंद्रा के पिताजी का नाम श्री अर्पित बिंद्रा है|